पार्टी की विचारधारा

नवजवान संघर्ष मोर्चा

प्रस्तावना-

हमारा यह झारखण्ड प्रदेश अकूत वन एवं खनन संपदा से परिपूर्ण मिश्रित भाषा भाषी ( मगही, भोजपुरी, नागपुरी, बांग्ला, खोरठा, मुंडारी, हो, कुडखु, पंचपरगनिया आदि ) एवं समन्वित झारखण्डी संस्कृति का प्रदेश है। कहते है। कि झारखण्ड एक धनी प्रदेश है लेकिन यहाँ के रहने वाले गरीब हैं। लेकिन क्यों? क्यों यहाँ के हजारों आदिवासी युवक एवं युवतियाँ अपनी जिविका की तलाश में दूसरे प्रदेशों में जाकर अपना स्वाभिमान एवं आवरू लूटा कर वापस आने को मजबुर हैं? क्यों आज भी 69.83 प्रतिशत यानी लगभग आधी से ज्यादा आबादी गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने को विवश है? क्यो यहाँ के 50 प्रतिशत लोग आज भी निरक्षर है? क्यो आज प्रखण्ड कार्यालयों में वृद्धावस्था पेंशन और इंदिरा आवाश लेने के लिए अशक्तों की भीड़ लगी रहती है? क्या हमारी ध्ारती अपने बेटे-बेटियों के पालन में असमर्थ है? कदापि नहीं हमारी धरती माँ तो अपना आँचल पसारे बैठी है हमें सब कुछ देने के लिये, लेकिन धरती माँ के बेटों ने सपने देखना और उन्हें पुरा करना छोड़ दिया है। कवि पास ने कहा है “सबसे खतरनाक है – सपनों का मर जाना”। क्या यह सुजला-सुफला धरती हमारी नहीं? स्वप्न देखना हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है। स्वप्नों को वास्तविकता में बदलना हमारा कत्र्तव्य, समाजिक न्याय के अधार पर न्यायिक समाज बनाना हमारी जिम्मेदारी है। एकसमान अधिकार से लैश समाज निर्माण कर इस मनुष्येतर जिन्दगी की जगह एक परिपूर्ण समृद्ध मानव समाज का निर्माण हमारे ही हीथ मे हैं।

झारखण्ड प्रदेश के नवनिर्माण के लिए जरूरी है एक ऊर्जाशील युवा शक्ति से लबरेज एक ऐसे राजनीतिक संगठन की जिसके पास झारखण्ड नवनिर्माण हेतु एक स्पष्ट सोच हो। जिसके पास झारखण्ड को पीछे और पीछे ले जानक वाली शक्तियों को पहचाने तथा उन्हें नष्ट करने की शक्ति तो हो ही साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, परिवहन, विस्थापन, उग्रवाद, रोजगार गारंटी आदि संबंधी आवश्यक नितियों बनाने, पूर्व के नियमों में सूधार करने, समन्वित करने का आत्मविश्वास हो, संविधान निर्माताओं द्वारा जनता को दिये गये मूलभूत अधिकारों की रक्षा करने का नैतिक बल हो तथा साथ ही हो झारखण्ड में रह रहे अनेक भाषा-भाषी और भिन्न संस्कृतियों को मानने वाले लोगों को समन्वित कर एक उन्नत झारखण्ड, सुखी झारखण्ड, समृद्ध झारखण्ड, साक्षर झारखण्ड एवं स्वस्थ्य झारखण्ड बनाने का संकल्प। तब आईये हम सभी नवजवान संघर्ष मोर्चा के साथ चलें।

केन्द्रीय अध्यक्ष
नवजवान संघर्ष मोर्चा